Hills Headline

बहुचर्चित निक्की हत्याकांड में बड़ा खुलासा, साहिल का परिवार भी हत्या की साजिश में शामिल

नई दिल्ली. बहुचर्चित निक्की यादव हत्याकांड में बड़ा खुलासा सामने आया है न्यूज सूत्रों के अनुसार पता चला कि मुख्य आरोपी साहिल गहलोत के अलावा उसके पिता सहित 5 अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा, ‘साहिल के पिता वीरेंद्र सिंह को तब गिरफ्तार किया गया, जब पुलिस ने जांच के दौरान पाया कि वह जानते थे कि उसके बेटे ने निक्की की कथित तौर पर हत्या कर दी थी. उन पर आईपीसी की धारा 120बी (आपराधिक साजिश) के तहत मामला दर्ज किया गया है.’ इसके अलावा चचेरे भाई भाई अशीष और नवीन के साथ दोस्त लोकेश और अमर को भी दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपियों पर आपराधिक साजिश रचने और सबूतों से छेड़छाड़ के आरोप लगे हैं. सभी 5 गिरफ्तारियां आईपीसी की धारा 120बी, 201, 202 और 212 के तहत हुई हैं.
बताया जा रहा है कि इस मामले में दिल्ली पुलिस ने एक और चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा कि आरोपी साहिल और निक्की ने अक्टूबर 2020 में ही नोएडा के एक आर्य समाज मंदिर में चुपके से शादी कर ली थी. साहिल का परिवार इस शादी से नाखुश था, इसलिए वो निक्की को रास्ते से हटाना चाहते थे. फिर साहिल के परिवार ने दिसंबर 2022 मे उसका रिश्ता तय कर दिया और लड़की वालों से यह बात छिपाई कि साहिल पहले से शादीशुदा है. पुलिस ने रिमांड के दौरान साहिल और निक्की के शादी के सर्टिफिकेट भी बरामद किए हैं. पुलिस सूत्रों ने बताया कि निक्की की लाश को फ्रिज मे छुपाने में उसके दोस्त और चचेरे भाई ने साथ दिया था.

निक्की के मोबाइल फोन से चैट और अन्य डेटा मिटाया

इससे पहले पुलिस ने 16 फरवरी को बताया था कि साहिल गहलोत ने अपनी महिला मित्र निक्की यादव की हत्या करने के बाद उसके मोबाइल फोन से चैट और अन्य डेटा मिटा दिये थे. आरोपी के कबूलनामे के अनुसार, उसने पुलिस को बताया कि उसने घटना से करीब 15 दिन पहले यादव का उत्तमनगर स्थित घर छोड़ दिया था, लेकिन नौ फरवरी को अपनी सगाई के बाद, वह फिर वहां गया और उसके साथ रात बितायी. अधिकारी ने बताया, ‘यादव ने पहले ही उसके साथ गोवा जाने की योजना बना ली थी और पहले से ही अपना टिकट बुक कर लिया था, लेकिन जब उसने एक यात्रा ऐप के माध्यम से गहलोत का टिकट बुक करने की कोशिश की, तो उसका टिकट बुक नहीं हो सका. इसलिए उन्होंने अपनी योजना बदल दी और हिमाचल प्रदेश जाने का फैसला किया.’ अधिकारी ने कहा, ‘दोनों गहलोत की कार में निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन गए, जहां उन्होंने पाया कि उन्हें आनंद विहार बस टर्मिनस से बस पकड़नी होगी, लेकिन जब वे वहां पहुंचे, तो उन्हें बताया गया कि बस कश्मीरी गेट आईएसबीटी से रवाना होगी.’ अधिकारी के अनुसार दोनों ने गूगल मैप का इस्तेमाल किया और दिलशाद गार्डन से रास्ता लिया. पुलिस सूत्रों के अनुसार कश्मीरी गेट फ्लाईओवर से वे निगम बोध घाट की ओर निकले. पुलिस सूत्रों ने बताया कि निगम बोध घाट के बाहर दोनों के बीच झगड़ा हुआ, जिसमें उसने महिला की हत्या कर दी. उन्होंने बताया कि यादव का शव गहलोत के बगल में था और गहलोत ने यादव के फोन से सारा डेटा मिटा दिया और अपने ढाबे पर पहुंचा.
जानकारी के मुताबिक उन्होंने कहा कि वह मजनू का टीला बाईपास, मधुबन चौक, पश्चिम विहार, जनकपुरी और उत्तम नगर से होते हुए मित्राओं गांव पहुंचा. उन्होंने कहा कि गहलोत भी यादव से शादी करना चाहता था, लेकिन उनका परिवार इसके लिए तैयार नहीं था. सूत्रों ने बताया कि उसका परिवार चाहता था कि वह उसकी पसंद की लड़की से शादी करे. सूत्रों के अनुसार हत्या के दो दिन बाद जब यादव के पिता उससे संपर्क नहीं कर पाए तो उन्होंने गहलोत का नंबर ढूंढकर उससे संपर्क किया. सूत्रों ने बताया कि यादव के पिता ने उससे दो बार बात की और अपनी बेटी के बारे में पूछताछ की. सूत्रों के अनुसार साहिल ने उन्हें बताया कि उनकी बेटी किसी यात्रा पर गई है और वह इससे ज्यादा कुछ नहीं जानता.सूत्रों के अनुसार गहलोत ने यादव के पिता से कहा कि चूंकि उसकी शादी हो रही है इसलिए वह उसके साथ नहीं गया. सूत्रों ने कहा कि उसने उसके पिता से कहा कि जाने से पहले वह अपना फोन उसके पास छोड़ गई थी. सूत्रों ने कहा कि पुलिस ने गहलोत के पास से यादव का मोबाइल फोन जब्त कर लिया है और मिटाये गए डेटा को फिर से हासिल करने के लिए उसे फॉरेंसिक प्रयोगशाला भेजा जाएगा. सूत्रों ने बताया कि गहलोत ने मोबाइल फोन अपनी शादी के बाद निपटाने की योजना बनाई थी, लेकिन इससे पहले कि ऐसा कुछ होता, एक साझा मित्र को अपराध की भनक लग गई और उसने पुलिस को सूचित कर दिया. यादव का शव हत्या के चार दिन बाद मंगलवार सुबह ढाबे के रेफ्रिजरेटर से बरामद किया गया.

Hills Headline

उत्तराखंड का लोकप्रिय न्यूज पोर्टल हिल्स हैडलाइन का प्रयास है कि देवभूमि उत्तराखंड के कौने – कौने की खबरों के साथ-साथ राष्ट्रीय , अंतराष्ट्रीय खबरों को निष्पक्षता व सत्यता के साथ आप तक पहुंचाएं और पहुंचा भी रहे हैं जिसके परिणाम स्वरूप आज हिल्स हैडलाइन उत्तराखंड का लोकप्रिय न्यूज पोर्टल बनने जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button