समाचार

मुनस्यारी के लाल हिमालियन बॉय कपिल अब तक बाईक से 21,000 किलोमीटर का सफर तय कर कर चुकें हैं !

उत्तराखंड सीमांत क्षेत्र मुनस्यारी के रहने वाले कपिल जंगपांगी ने अब तक बाईक से 21,000 किलोमीटर सफर तय किया है कपिल के पिता का नाम स्वर्गीय श्री इंदर सिंह जंगपांगी है व माता का नाम इंद्रा जंगपांगी है
कपिल आजादी का अमृत मोहोत्स्व इवेंट के लिए कपिल उत्तराखंड से चुने गए इकलोते बाइकर है। 9 सितंबर 2022 से दिल्ली से शुरू हुई जिसको ध्यानचंद स्टेडियम दिल्ली से यूनियन मिनिस्टर अमित शाह ने हरी झंडी दी। उत्तरी भारत के लद्दाख करते हुए उत्तरपूर्वीय के सेवन सिस्टर करे, फिर दक्षिण भारत के कन्याकुमारी करते हुए पश्चिमी भारत के गुजरात गोवा करते हुए दिल्ली 24 नवंबर 2022 को आए। उन्होंने 6 भारत के अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर जिसमें पाकिस्तान, नेपाल, चीन, भूटान, बर्मा/म्यांमार , बांग्लादेश सहित लद्दाख की घाटी भी गए। दुनिया के सबसे ऊँचाई पर बना युद्धक्षेत्र सियाचिन बेस कैंप लद्दाख घाटी भी हम लोग गए।
75 बाइकर्स, 75 दिन, 75 भारत के आइकॉनिक जगह गए।
75 बाइकर्स में एक की जान गई लद्दाख में तबियत खराब होने से, 8 लोगो का एक्सीडेंट हुआ और वो चोटिल हो कर घर चले गए,
2 लोगो के पिताश्री का देहांत होने से घर गए और कुछ लोगो की बाइक खराब होने से वो भी घर चले गए। मगर ये राइड चलते रहे, और राइड पूरी हुई 21,000 किलोमीटर दिल्ली पहुंच के।
फ्रीडम मोटो रैली के नाम से इवेंट था, जिसमे भारत सरकार की बड़ी उपलब्धि थी। हम लोगो ने भारत के सभी War memorials गए, लगभग सभी बड़े शहरों में रुके और लगभग सभी जिले क्रॉस करे।
28 states 6 union territories Total 34 states/UT इससे पहले कपिल ने 2.5 लाख किलोमीटर बुलेट चलाई है 9 सालों में उत्तराखंड,हिमाचल, कश्मीर, लद्दाख के पहाड़ चढ़े है। अब तक 150 किलोमीटर का सबसे लंबा ट्रैक आदि कैलाश ॐ पर्वत का सन 2018 को किया था। कपिल ने बताता की उन्हें बाइक चलाना और पहाड़ों में ट्रैक करना बेहद पसंद है।

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button