उत्तराखंडदेश-विदेशसमाचार

मंदिर में पुजारी व कर्मचारियों से भिड़े श्रद्धालु, खूब चले लाठी-डंडे, विडियो वायरल हुई!!

मंदिर में पुजारी व कर्मचारियों से भिड़े श्रद्धालु, खूब चले लाठी-डंडे, विडियो वायरल हुई!!

Hills Headline!!

हरिद्वार।

सिद्धपीठ दक्षिण काली मंदिर में रविवार को श्रद्धालुओं और पार्किंग कर्मचारियों के बीच विवाद हो गया। आरोप है कि श्रद्धालुओं ने पहले पार्किंग कर्मचारी से मारपीट की। फिर बीच बचाव कराने आए पुजारियों से हाथापाई की। जिसके बाद पुजारी और कर्मचारियों ने मिलकर आरोपितों को खदेड़ा। पुलिस उनकी तलाश में जुटी है। वहीं, दक्षिण पीठाधीश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि ने पूरे प्रकरण के पीछे किसी षडयंत्र का अंदेशा जताया है।

सहारनपुर से आए थे श्रद्धालु

पुलिस के मुताबिक, सिद्धपीठ दक्षिण काली मंदिर में रविवार को सहारनपुर के कुछ श्रद्धालु आए थे। मंदिर परिसर में गाड़ी ले जाने पर कर्मचारियों ने उनसे पर्ची कटवाने को कहा। इस बात को लेकर उनके बीच कहासुनी हो गई। आरोप है कि श्रद्धालुओं ने कर्मचारियों को पीट दिया।

शोर शराबा सुनकर मंदिर के पुजारी भी आ गए और उन्होंने समझाने का प्रयास किया। आरोप है कि श्रद्धालुओं ने उनके साथ भी अभद्रता करते हुए हाथापाई कर दी। इसके बाद पुजारी और कर्मचारियों ने मिलकर आरोपियों को दौड़ाया। सूचना पर चंडी घाट चौकी से पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और विवाद शांत कराया।

वहीं, इस मामले में दक्षिण पीठाधीश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि का कहना है कि श्रद्धालु बनकर कुछ लोग आए थे, जो सहारनपुर के बताए जा रहे हैं। उन्होंने पुजारी व कर्माचरियों से मारपीट की है। इसके पीछे कोई षडयंत्र हो सकता है।

पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई होनी चाहिए। इधर, श्यामपुर थानाध्यक्ष नितेश शर्मा ने बताया कि मामले की जानकारी ली जा रही है। अभी किसी भी पक्ष की ओर से कोई तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

देखिए वीडियो

Hills Headline

उत्तराखंड का लोकप्रिय न्यूज पोर्टल हिल्स हैडलाइन का प्रयास है कि देवभूमि उत्तराखंड के कौने – कौने की खबरों के साथ-साथ राष्ट्रीय , अंतराष्ट्रीय खबरों को निष्पक्षता व सत्यता के साथ आप तक पहुंचाएं और पहुंचा भी रहे हैं जिसके परिणाम स्वरूप आज हिल्स हैडलाइन उत्तराखंड का लोकप्रिय न्यूज पोर्टल बनने जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button