उत्तराखंडदेश-विदेशसमाचार

ब्रेकिंग:- बाबा तरसेम हत्याकांड,पुलिस मुठभेड़ में मारे गए अमरजीत सिंह का संबंध खालिस्तान आतंकवाद से !



Hills Headline!!



देहरादून।

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए अमरजीत सिंह के तार खालिस्तान आतंकवाद से जुड़े थे। आशंका है कि बाबा तरसेम की हत्या के पीछे खालिस्तानी आतंकियों की साजिश हो सकती है। पुलिस जांच में अब तक सामने आए तथ्यों से यह आशंका पुख्ता हो रही है। पुलिस जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि इस हत्याकांड को तराई में सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की साजिश के रूप में भी सोशल मीडिया पर चलाया गया था।

मंगलवार को डीजीपी अभिनव कुमार ने अमरजीत सिंह के पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मारा गया बदमाश काफी बड़ा गैंगस्टर था। हत्या के बाद सोशल मीडिया पर इस घटना को धार्मिक रूप देकर तराई में सांप्रदायिकता फैलाने की साजिश के रूप में इस्तेमाल करने की भी कोशिश की गई थी। उन्होंने बताया कि बाबा तरसेम की हत्या के लिए धर्म विशेष से जुड़े लोगों को लाने के पीछे भी इसको सांप्रदायिक रूप देने की साजिश लग रही है। अब तक की पुलिस जांच में यह भी सामने आया है कि अमरजीत सिंह खालिस्तानी आंतकवाद से भी जुड़ा था। उसके खिलाफ 1991 में रामपुर, यूपी के बिलासपुर में खालिस्तानी आतंकियों को पनाह देने के चलते टाडा में मुकदमा दर्ज हुआ था।

10 लाख की सुपारी लेकर की थी हत्या डीजीपी अभिनव कुमार ने बताया कि मामले की गहनता से जांच की जा रही है। अभी तक की जांच में साफ हुआ है कि अमरजीत सिंह और उसके साथी सरबजीत सिंह को 10 लाख रुपये की सुपारी देकर बाबा तरसेम सिंह की हत्या कराई गई थी।

Hills Headline

उत्तराखंड का लोकप्रिय न्यूज पोर्टल हिल्स हैडलाइन का प्रयास है कि देवभूमि उत्तराखंड के कौने – कौने की खबरों के साथ-साथ राष्ट्रीय , अंतराष्ट्रीय खबरों को निष्पक्षता व सत्यता के साथ आप तक पहुंचाएं और पहुंचा भी रहे हैं जिसके परिणाम स्वरूप आज हिल्स हैडलाइन उत्तराखंड का लोकप्रिय न्यूज पोर्टल बनने जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button